Raksha Bandhan movie review:- अक्षय कुमार बने भैया करने पार नैया

0
249
Raksha Bandhan Movie Review

Raksha Bandhan के शुभ अवसर पर कोई मूवी न देखें ऐसा हो नहीं सकता कुछ पुरानी मूवी देखते हैं तो कुछ ऐसे भी होते हैं जिन्हें थियेटर जाकर जेब ढीली करने में मजा आता है बिलकुल हमारी तरह। Akshay Kumar स्टारर फिल्म Raksha Bandhan movie review का अगर आप इंतजार कर रहे थे तो बिलकुल यहीं मिलेगा आपको Bollyhind Movie review बिलकुल स्टिक डिटेल्स के साथ। 

Raksha Bandhan movie की कहानी

भाई बहन का रिश्ता बेहद प्यारा होता है, इनके इन अनमोल रिश्तों को पेश करने के लिए कई बॉलीवुड फिल्में बनी है उसी लिस्ट में अब Raksha Bandhan movie भी शामिल हो चुकी है। यह मूवी की कहानी अक्षय कुमार और उनकी 4 बहनों पर घूमती है। 

अक्षय कुमार अपनी फिल्म में रोल निभाती मां से वादा करते हैं की वे अपनी शादी से पहले अपनी चारों बहनों की शादी कराएंगे। अब वादा किसी के लिए खुशी तो किसी शख्स के लिए मायूसी का कारण बन जाता है। इस फिल्म में यह वादा Bhumi Pednekar के लिए मायूसी का कारण बन जाता है। क्योंकि अक्षय कुमार जब तक बहनों की शादी नहीं करा पाएंगे तब तक लाला केदारनाथ (Akshay Kumar) तब तक शादी नहीं करेंगे। 

इस वादे को पूरा करने के लिए सपना (Bhumi Pednekar) के पिता ने लाला केदारनाथ को 6 महीने का समय दिया और यह कहा की अगर लाला केदारनाथ ऐसा नहीं कर पाते हैं तो सपना की शादी वे किसी दूसरे से करा देंगे। 

इसी प्रकार यह कहानी है क्या लाला केदारनाथ अपनी चारों बहनों की शादी करा पाएंगे। क्या उन्हे अपने बचपन का प्यार मिल पाएगा। 

Raksha Bandhan Film पॉजिटिव प्वाइंट

रक्षा बंधन मूवी की सबसे बड़ी खासियत इसकी सरलता ही कहूंगा क्योंकि फिल्म को चांदनी चौक में सेटअप किया गया है और फिल्म के नायक अक्षय कुमार अपने रियल लाइफ में चांदनी चौक में काफी रहे हैं तो लोगो के बात करने का ढंग, बेहद ही बेहतरीन तरीके से दर्शाया है। 

मूवी कभी हसाती हैं तो कभी रुला भी देती है। डायलॉग काफी अच्छे से लिखे गए हैं। सभी कलाकारों का अभिनय काफी अच्छा लगा मुझे। फिल्म के सीन्स इमोशन पहुंचाने में कामयाब रहते हैं। 

Raksha Bandhan movie नेगेटिव प्वाइंट

फिल्म असल में दो भागों में बनी है ऐसा प्रतीत होता है। पहले भाग में तो राइटर ने हसाया है और कुछ ही जगह पर रुलाने का प्रयास किया है या आप कह सकते हैं सिचुएशन की वजह से रोना आ जाता है लेकिन सेकंड हाफ में केवल रुलाया गया है जिससे ऐसा लगता है अब कुछ ज्यादा हो रहा है।

सेकंड हाफ देखकर आप यह भी कह सकते हैं की इतना रोए हैं इतना रोए हैं की आंसू भी सुख चुके हैं। अगर आसान भाषा में कहा जाए तो रुलाने का ओवरडोज दिया गया है जो जबरदस्ती का एलिमेंट लगता है। 

क्या फिल्म देखनी चाहिए?

फिल्म यूं तो काफी अच्छी है और एक फैमिली ओरिएंटेड मूवी है जो पूरा परिवार और भाई बहन साथ में देख सकते हैं लेकिन फिल्म में कुछ ऐसा खास नहीं जो आपको थियेटर तक ले जाएं इसीलिए आप चाहे तो इसका OTT पर आने का इंतजार कर सकते हैं। 

Bollyhind रिव्यू

Raksha Bandhan movie को Bollyhind की तरफ से 3 स्टार मिलते हैं। फिल्म सिंपल है किंतु इफेक्टिव भी लगी। अभिनय सभी कलाकारों का अच्छा लगा किंतु कुछ जगह पर जबरदस्ती का इमोशन डालना वह सही नहीं लगा। बाकी वन टाइम वॉच मूवी है।

दोस्तों अगर आपको हमारा रिव्यू पसंद आया तो जरूर लाइक करें इस पोस्ट को और शेयर करें अपने दोस्तों और परिवार के साथ।

धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here